व्हाट्सएप 2021 में अपनी सेवा की शर्तों को समाप्त करने जा रहा है

व्हाट्सएप 2021 में अपनी सेवा की शर्तों को समाप्त करने जा रहा है

व्हाट्सएप 2021 में अपनी सेवा की शर्तों को समाप्त करने जा रहा है

अगर आप भी एक व्हाट्सएप यूजर हैं तो यह खबर आपके लिए बेहद जरूरी है। व्हाट्सएप अगले साल यानी की 2021 के शुरुआत के साथ ही अपनी टर्म्स ऑफ सर्विस अपडेट करने वाला है। अगर आप इसे एक्सेप्ट नहीं करेंगे तो आपको अपना व्हाट्सएप अकाउंट ही डिलीट करना पड़ेगा।

व्हाट्सएप का यह पहला ऐसा पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी एक बार कंपनी फेसबुक के साथ व्हाट्सएप यूजर्स का डाटा शेयर करने को लेकर विवादों में रही है। और अब व्हाट्सएप के नए वर्जन  का अपडेट मिला है। दरअसल इस अपडेट में नई टर्म्स ऑफ सर्विस दी गई हैं। जो 8 फरवरी 2021 से लागू होंगी व्हाट्सएप के दुनिया भर में 1.5 अरब से ज्यादा यूजर्स है। और सभी को अगर व्हाट्सएप्प यूज करना जारी रखना है तो कंपनी की इस नई टर्म्स आफ सर्विस को एक्सेप्ट करना ही पड़ेगा व्हाट्सएप के टर्म्स आफ सर्विस में यह लिखा है कि यह पॉलिसी आने वाली 8 जनवरी 2021 से लागू कर दिया जायेगा।

Good Useful WhatsApp Group Links Lists

इस डेट के बाद व्हाट्सएप यूजर्स को नये टर्म्स आफ सर्विस एक्सेप्ट करने ही पड़ेगा और अगर कोई यूजर एक्सेप्ट नहीं करता तो ऐसी स्थिति में उस यूजर को को अपना व्हाट्सएप अकाउंट डिलीट करना पड़ेगा। डब्ल्यू ए बीटा इन्फो की एक रिपोर्ट के मुताबिक नए ऐप अपडेट के साथ ही व्हाट्सएप में इन ऐप अनाउंसमेंट का फीचर भी ऐड कर दिया दिया जायेगा। यानी व्हाट्सएप को अगर किसी चीज के बारे में यूजर्स के लिए अनाउंसमेंट करना होगा तो उसे सीधे  ऐप के अंदर ही बता दीया जाएंगा। उदाहरण के तौर पर इस अनुग्रह अनाउंसमेंट फीचर के तहत कंपनी नये फीचर्स पॉलिसी में बदलाव बग्स और दूसरी जानकारियां अपने यूजर्स को दे सकती है।

डब्ल्यू ए बीटा इन्फो की रिपोर्ट के मुताबिक इस तरह की इंफॉर्मेशन यूजर्स को चैट में नहीं बल्कि एक बैनर के तौर पर एप्लीकेशन के अंदर ही दिया जायेगा। उस बैनर पर क्लिक करके यूजर्स को एक अलग एक्सटर्नल वेबसाइट पर रीडायरेक्ट किया जाएगा जहाँ पर सारी जानकारी दर्ज होगी।

रिपोर्ट के मुताबिक इन ऐप अनाउंसमेंट का यूज कंपनी यूजर्स को नए टर्म्स ऑफ सर्विस को भेजकर करना चाहेगी। जिसे सभी को एक्सेप्ट करना होगा डब्ल्यू ए बीटा इन्फो ने एक स्क्रीनशॉट भी शेयर किया है जहाँ पर सीधे तौर पर इसे देखा जा सकता है। फिलहाल कंपनी ने अपनी नई टर्म्स ऑफ सर्विस को पब्लिक के लिए अभी जारी नहीं किया है इसलिए अभी यह कुछ नहीं है।

लेकिन आने वाले समय में यह यूजर्स को मिल सकती है व्हाट्सएप के इस टर्म्स एंड प्राइवेसी पॉलिसी अपडेट में कंपनी द्वारा यूजर्स के डाटा प्रोसेसिंग के बारे में लिखा गया है। यहाँ यह भी लिखा गया है कि किस तरह के बिजनेस फेसबुक होस्टेड सर्विस का उपयोग करके व्हाट्सएप चैट को मैनेज और स्टोर किया जा सकता हैं।

इससे पहले भी व्हाट्सएप अपनी पॉलिसी में बदलाव को लेकर काफी चर्चा मे रहा है। उस वक्त कंपनी व्हाट्सएप यूजर्स का डाटा फेसबुक के साथ शेयर करने की पॉलिसी लेकर आई थी और इस पर काफी विवाद भी हुआ था। इन्हीं सब वजहों के कारण से 2018 में व्हाट्सएप फाउंडर जेन कूम ने अपना सीओ पद भी छोड़ दिया था। व्हाट्सएप के दोनों फाउंडर चाहते थे कि व्हाट्सएप को फेसबुक पूरी तरह से अलग रखे और पैसे कमाने के लिए यूजर्स का डाटा बेंचा ना जाए और ना ही फेसबुक के साथ शेयर किया जाए। लेकिन ऐसा हुआ नहीं और फेसबुक ने इसे अपने साथ पूरी तरह से शामिल कर लिया और डाटा शेयरिंग पॉलिसी को लेकर आए।

क्योंकि अब  दोनों फाउंडर कंपनी छोड़ चुके थे इसीलिए अब प्राइवेसी को लेकर ऐसी कोई बहस बाजी नहीं होती है। और आने वाले समय में भी कंपनी व्हाट्सएप में भी क्रॉस प्लेटफॉर्म का फीचर भी ला सकती है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*